fbpx
प्रार्थना

प्रार्थना

प्रार्थना परमेश्वर के साथ और परमेश्वर से वार्तालाप है. जबकि परमेश्वर को सीधी तरह से आप सुन नहीं सकते पर आप उन का ध्यान को जो आप पर है समझ सकेंगे.

अपने प्रार्थना में ईमानदार रहें )इब्रानी 10:22. वह पहले से ही जानता है की आप क्या कर रहें है. क्यों की वह तुम्हारा सृजनहार है उस से सम्मान के साथ बात करो.

वह आप से प्रेम रखता है इस कारण आप का सुनेगा. पर क्योंकि वह आप से ज्यादा बुद्धिमान है और उसका सोच आप के सोच से कई ज्यादा बड़ा है, होसकता है उत्तर हमेशा आप के पसंद का नहीं हो.

कई बार आप के जीवन के प्रति परमेश्वर के प्रणाली को समझ ने में ज्यादा वक्त लग जाता है, हो सकता है की आप मुश्किलों को सहेंगे, लोगो के द्वारा ठोकर खायेंगे, या खतरनाक हालात को सहना पड़े . पर आप के प्रार्थना के अनुसार उत्तर अगर नहीं मिला तो  निराश न होना. कई बार परमेश्वर आप के धीरज को परखने के बाद सही और मन चाहा उत्तर देता है.

अपने शारीरिक पिटा के समान परमेश्वर भी अपने बच्चों की सुधि लेता है और चाहता है की हम लम्बी समय तक अच्छाइ प्राप्त करें.

कलिसियायें

कलिसियायें

जब आप मसीही बना जाते है तो आवश्यक है की आप स्थानीय चर्च / कलीसिया में जाए. अगर आस पास...
बप्तिस्मा

बप्तिस्मा

बप्तिस्मा एक बाहरी संकेत है जिस के द्वारा आप लोगों को बताते है की आप मसीही है. बप्तिस्मा का प्रक्रिया...
प्रार्थना

प्रार्थना

प्रार्थना परमेश्वर के साथ और परमेश्वर से वार्तालाप है. जबकि परमेश्वर को सीधी तरह से आप सुन नहीं सकते पर...
पवित्र आत्मा

पवित्र आत्मा

बाइबल सिखाती है की परमेश्वर 3 व्यक्तियों में अपने आप का परिचय देता है. इसे त्रियेक्ता कहते है. हम इंसानों...
येशु परमेश्वर का पुत्र

येशु परमेश्वर का पुत्र

यीशु को परमेश्वर का पुत्र क्यों कहते है? यीशु ने स्वयं कहा कि वह परमेश्वर का पुत्र है :फिर उन...
येशु का जीवन

येशु का जीवन

यीशु का जन्म इस्रायेल में २००० साल पहले हुआ |इसके बारे में आप लुका की किताब में पढ़ सकते है...
बाइबल के कुछ उपयोगी पद

बाइबल के कुछ उपयोगी पद

परमेश्वर का प्रेम यूहन्ना 3:16 16 परमेश्वर को जगत से इतना प्रेम था कि उसने अपने एकमात्र पुत्र को दे...
बाइबल, परमेश्वर का पुस्तक

बाइबल, परमेश्वर का पुस्तक

बाइबल एक साधरण किताब नहीं है |वास्तव में वह एक किताब नहीं है पर ६६ किताबो का किताबघर है |उसमे...

Comments are closed.